Motivational Story: रंगभेद से लड़े, पढाई छोडनी पड़ी, बचपन के संघर्ष ने बनाया एमिनेम को टॉप रैपर

0
143
eminem's motivational story

एमिनेम का असली नाम मार्शल ब्रूस मैथर्स है. 17 अक्टूबर 1972 को उनका जन्म अमेरिका के सेंट जोसेफ में हुआ था . उस उनकी माँ केवल 17 साल की थी. एमिनेम ने अपने पिता को कभी नहीं देखा और अपनी माँ के साथ ही बड़े हुए. पैसो की कमी के कारण उन्हें एक शहर से दूसरे शहर भटकना पड़ता था.

eminem story bcmedia.in

जब रंगभेद की बात आती है तो हमे लगता है कि केवल ब्लैक लोगो के साथ ही ऐसा होता है जबकि ऐसा नहीं होता है. रंगभेद वाइट लोगो के साथ भी होता है. एमिनेम भी इसका शिकार हुए है.मिशिगन में ब्लैक लोगो का वर्चस्व था और वो लोग वाइट लोगो से नफरत करते थे. एमिनेम को बचपन में बहुत बुली किया गया. जिस वजह से वह हमेशा तनाव में रहते थे. उन्हें पीटा भी जाता था. एक दिन एक लड़की ने उन्हें बहुत बुरी तरह पीटा उसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा. इस वक़्त तक कोई भी वाइट व्यक्ति रैप नहीं कर सकता था. एमिनेम रैप करते है, ये पता चलने पर उन्हें समस्याओं का सामना करना पड़ा. ब्लैक लोगो को लगता था की रैप करना केवल उन्ही का हक है. एमिनेम की रैप में दिलचस्पी तब हुई जब उनके अंकल रौनी ने उन्हें एक सीडी लाकर दी. आगे चलकर रौनी ही उनके म्यूजिक मेंटर बने.एमिनेम उन्हें अपना आइडल मानते थे. लेकिन किन्ही कारणों से रौनी ने आत्महत्या कर ली. ये सदमा एमिनेम के लिए बहुत बड़ा था. उन्होंने खुद को ७ दिनों तक कमरे में बंद कर लिया और किसी से बात नहीं की.

eminem story bcmedia
 Day 2 of Reading Festival 2013 at Richfield Avenue on August 24, 2013, England.

एमिनेम को स्कूल जाना पसंद नहीं था और न ही पढाई में कोई दिलचस्पी थी. यही वजह थी कि क्लास ९ में वे तीन बार फेल हुए. कुछ दिनों बाद उन्होंने स्कूल छोड़ दिया और पैसो के लिए छोटी नौकरियां करने लगे. होटल में कभी बर्तन धोना, लोगो की गाड़ियाँ साफ़ करना, ऐसे काम भी किये.

काफी मेहनत के बाद उन्होंने अपना पहला अल्बम ‘इन्फाईनाईट’ लांच किया. लेकिन ये बुरी तरह फ्लॉप रहा. कुछ दिनों बाद उन्हें नौकरी से निकाल दिया गया. इस वक़्त उनके पास केवल 40 डॉलर थे. परेशान होकर उन्होंने आत्महत्या की भी कोशिश की लेकिन समय रहते उन्हें बचा लिया गया. 1997 में उन्होंने एक रैप प्रतियोगिता में हिस्सा लिया और दूसरे स्थान पर रहे. उनके काम से उस वक़्त के सबसे मशहूर रैपर डॉ. ड्रिप प्रभावित हुए और उन्होंने एमिनेम के साथ काम करने का मन बना लिया. रैप के बाद एमिनेम ने एक्टिंग में हाथ अजमाया और ‘8 माईल’ फिल्म बनाई जो उन्ही के जीवन पर थी. एमिनेम ने दो किताबें भी लिखी जो काफी लोकप्रिय हुई. इनके नाम 15 ग्रैमी अवार्ड्स है. एमिनेम ने 1 सेकंड में 4.28 शब्द बोल लेते है और 16 सेकंड में 100 शब्द बोलने का रिकॉर्ड भी इन्ही के नाम है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here