मदर टेरेसा के संस्था में 1.20 लाख रुपये में नवजात शिशु का हुआ सौदा

1
139

झारखंड की राजधानी रांची में मदर टेरेसा की संस्था मिशनरीज ऑफ चैरिटी पर नवजात  बच्ची को बेचने का गंभीर आरोप लगा है। बताया जा रहा है कि मिशनरीज ने बच्ची का सौदा करीब 1 लाख 20 हजार रुपये में किया है। इस मामले में मिशनरीज ऑफ चैरिटी होम की कर्मचारी अनिमा को कोतवाली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

मामले में पूछताछ के बाद दो दो और सिस्टर का नाम सामने आया था जिसके बाद पुलिस ने उन्हें भी गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस में दर्ज शिकायत के मुताबिक, आरोप है कि चैरिटी होम की महिला संचालक के साथ मिलकर अनिमा आधा दर्जन नवजात को बेच चुकी है। चाइल्ड वेलफेयर कमेटी (CWC) की जांच में इस तथ्य का खुलासा हुआ है कि एक बच्चे की अधिकतम कीमत 1 लाख 20 हजार रुपये मिली है।

Related image

बाल कल्याण समिति ने नवजात बच्चे को इस समिति से बरामद कर लिया है। फिलहाल इन बच्चों को रेस्क्यू कर एक अन्य संस्था में रखा गया है। थाना इंचार्ज एसएन मंडल ने इस मामले में कहा कि, कुछ और बच्चों को भी इल्लीगल तरीके से बेचे जाने की बात सामने आई है। हमे उन बच्चों की मां के नाम मिले हैं। हम इसकी जांच कर रहे हैं।

राजधानी रांची के ईस्ट जेल रोड स्थित मिशनरीज ऑफ चैरिटी होम में इल्लीगल रूप से नवजातों के सौदों का खुलासा CWC की अध्यक्ष रूपा कुमारी ने बुधवार को समाहरणालय स्थित कार्यालय में किया था।

उन्होंने कहा कि, होम की कर्मचारी अनिमा इंदवार को कोतवाली पुलिस ने मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया। उसने खुद स्वीकार किया कि अब तक आधा दर्जन नवजात को चैरिटी होम की सिस्टर कोनसीलिया के साथ मिलकर बेच चुकी है।

पुलिस को पूछताछ में पता चला है कि बच्चा देने के बदले में 50 हजार रुपये से 1.20 लाख रुपये तक लिये गये हैं। फिलहाल आधा दर्जन बच्चों के बेचे जाने का मामला सामने आया है। अभी इन्वेस्टिगेशन चल रही है और उम्मीद है कि और भी सच्चाई के खुलासे होने बाकी है।

1 COMMENT

  1. Kamaal hai ab missionaries bhi aisa kaam karne lage hai. Vastav mein desh natk mein hi ja raha hai. Aise facts ko aap apne channel mein zaroor ujagar karey. Acchaa laga jankar ki aap log aisa sach samney laatey hai.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here